भारतीय क्रिक्केट टीम के 7 बल्लेबाज 0 पर वापस लौटे, 11 बॉल के अंदर गिरे 6 विकेट

Spread the love

जब भारतीय क्रिक्केट टीम के 7 विकेट गिरे

भारतीय क्रिक्केट टीम की बल्लेबाजी साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज के लगातार दूसरे मुकाबले में ताश के पत्तों के ढेर की तरह बिखर गई. सेंचुरियन टेस्ट में पारी की शर्मनाक हार के बाद केप टाउन टेस्ट में भी बल्लेबाज बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे. हालत ऐसी थी कि पहली पारी में भारतीय टीम के 7 बल्लेबाज बिना कोई रन बनाए वापस लौटे. 11 बॉल में टीम इंडिया ने अपने आखिर के 6 विकेट गंवाए.

कप्तान रोहित शर्मा ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले बेहद बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था वह चाहते हैं कि इससे पहले जो किसी भारतीय कप्तान ने हासिल नहीं किया उस कामयाबी को वो अपने नाम करें. भारत का कोई भी कप्तान साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाया है. रोहित शर्मा भी इसमें नाकाम ही रहे. सेंचुरियन टेस्ट में पारी और 32 रन की हार के साथ ही उनका सपना टूट गया.

जब भारतीय क्रिक्केट टीम के 11 गेंद पर 6 विकेट गिरे
केप टाउन टेस्ट मैच में भारतीय टीम की बल्लेबाजी ऐसी रही जिसे कोई भी देखना नहीं चाहेगा. टीम इंडिया का स्कोर 33 ओवर में 153 रन था और 34.5 ओवर में सारे बल्लेबाज वापस लौट चुके थे. भारतीय टीम 153 के स्कोर पर ही ऑलआउट हो गई. 11 गेंद में टीम ने अपने आखिर के 6 बल्लेबाज को गंवाया. 7 बैटर बिना खाता खोले वापस लौटे इसमें मुकेश कुमार शून्य पर नॉट आउट रहे जबकि ओपनर यशस्वी जायसवाल, श्रेयस अय्यर, रवींद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज और प्रसिद्ध कृष्णा शून्य पर आउट हुए.

जब भारतीय क्रिक्केट टीम ने साउथ अफ्रीका से 55 रन पर समेटा
साउथ अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर ने टॉस कर बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. मोहम्मद सिराज की घातक गेंदबाजी के आगे मेजबान टीम के बैटर बुरी तरह से बेबस नजर आए. 9 ओवर में महज 15 रन देकर उन्होंने 6 विकेट झटके. जसप्रीत बुमराह और मुकेश कुमार ने 2-2 विकेट चटकाते हुए महज 55 रन के स्कोर पर साउथ अफ्रीका की पहली पारी को खत्म कर दिया.

Leave a Comment