Friday, July 12, 2024

उत्तर प्रदेश में अब तक की सर्वाधिक 30,240 मेगावॉट की विद्युत आपूर्ति कर पीक आवर की अधिकतम मांग को पूरा किया गया

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश में अब तक की सर्वाधिक 30,240 मेगावॉट की विद्युत आपूर्ति कर पीक आवर की अधिकतम मांग को पूरा किया गया।

उत्तर प्रदेश में भीषण गर्मी और लू के कारण विद्युत की मांग ऐतिहासिक रूप से बढ़ी है। बढ़ी हुई विद्युत की मांग को ऊर्जा विभाग सफलतापूर्वक पूरा कर रहा है। 12 जून, 2024 को 22.33 बजे उत्तर प्रदेश में अब तक की सर्वाधिक 30,240 मेगावॉट की विद्युत आपूर्ति कर पीक आवर की अधिकतम मांग को पूरा किया गया। 12 जून को ही 17.57 बजे 23988 मेगावॉट विद्युत की न्यूनतम मांग रही।

यह भी पढ़े वाराणसी पुलिस ने बनाई रणनीति, सड़क पर अतिक्रमण रोकने व ट्रैफिक को सुचारु रूप से चलने के लिए बनाया प्लान, वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस

पूरे देश में एक दिन में सबसे ज्यादा 653.53 मिलियन यूनिट बिजली की खपत प्रदेश में हुई। विद्युत आपूर्ति के मामले में पूरे देश में प्रदेश को की गयी आपूर्ति सर्वाधिक रही तथा देश के अन्य अग्रणी राज्यों से उत्तर प्रदेश बहुत आगे है।

उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं उर्जा मंत्री श्री ए.के. शर्मा ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि माननीय प्रधानमंत्री जी के आशीर्वाद एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन में उर्जा विभाग के कुशल प्रबधंन एंव विद्युत कार्मिकों के कर्तव्यपरायणता की बदौलत प्रदेश ने इस ऐतिहासिक उपलब्धि को प्राप्त किया है और हम इस समय प्रदेश के इतिहास की सर्वाधिक विद्युत आपूर्ति कर रहे है। उन्होंने कहा कि विगत दो वर्षों से ऊर्जा के क्षेत्र में नये रिकार्ड बन रहे है और शीघ्र ही पूरे प्रदेश को रोस्टर फ्री 24X7 विद्युत की आपूर्ति मिलेगी।

ऊर्जा मंत्री ने बताया कि वर्तमान में पूरे प्रदेश में 24 घंटे विद्युत की औसत आपूर्ति की गयी। इसमें औद्यौगिक क्षेत्रों, महानगरों, मण्डल व जिला मुख्यालयों, तहसील मुख्यालयों, बुन्देलखण्ड क्षेत्र, नगर पंचायतों आदि में 24 घंटे आपूर्ति की गयी। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में भी 23.55 घंटे की विद्युत आपूर्ति की गयी। प्रदेशवासियों को निर्बाध विद्युत आपूर्ति मिलें, इसके लिये विगत दो वर्षों से विद्युत ढांचे को सुदृढ़ करने, उपकेन्द्रों और ट्रांसफार्मर्स की क्षमता बृद्धि का कार्य किया जा रहा है, जहां कहीं पर भी जर्जर पोल और केबल विद्युत आपूर्ति में बाधक बन रही है उसे बदला जा रहा है। उपभोक्ताओं को मांग के अनुरूप निर्बाध विद्युत आपूर्ति मिले, इसके प्रयास किये जा रहे। ऊर्जा विभाग की बेहतर कार्यप्रणाली, कुशल प्रबंधन तथा विद्युत कार्मिकों की कार्यो के प्रति लगन एवं निष्ठा की बदौलत पूरे प्रदेश को 24 घंटे विद्युत की आपूर्ति करने में सफलता मिली है। अभी भी जहां कहीं से भी स्थानीय दोषों के कारण विद्युत व्यवधान की शिकायतें मिल रही, उसका शीघ्र निदान ही नहीं किया जा रहा, बल्कि समस्या आगे न हो, उसका जड़ से ही निदान करने का प्रयास किया जा रहा है। इसमें जनप्रतिनिधियों, उपभोक्ताओं तथा विशेषज्ञों की भी सलाह लेकर विद्युत व्यवस्था को सुदृढ़ करने का कार्य किया जा रहा है।

ऊर्जा मंत्री ने प्रदेशवासियों, उपभोक्ताओं तथा विद्युत कार्मिकों को इस ऐतिहासिक उपलब्धि के लिए बधाई दी है और निर्बाध विद्युत आपूर्ति बहाल करने में कार्मिकों के कठोर परिश्रम की सराहना भी की है। उन्होंने विद्युत कार्मिकों को निर्देशित किया है कि पूरे समर्पण के साथ एवं कर्तव्यनिष्ठ होकर उपभोक्ताओं की सेवा करें, जिससे जल्द ही प्रदेश को विद्युत आपूर्ति में ही नहीं बल्कि उपभोक्ता सेवा के क्षेत्र में भी पूरे देश में प्रदेश को अग्रणी स्थान मिले।

भीषण गर्मी व लू से प्रदेश में विद्युत की मांग ऐतिहासिक रूप से बढ़ी। ऊर्जा विभाग ने प्रदेश में सर्वाधिक 30240 मेगावाट विद्युत की पीक डिमांड को सफलता पूर्वक पूरा किया। पूरे देश में एक दिन में सबसे ज्यादा 653.53 मि. यूनिट बिजली आपूर्ति। उ.प्र. में पहली बार 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की गयी। इस समय प्रदेश के इतिहास की सर्वाधिक विद्युत आपूर्ति की जा रही। उपभोक्ताओं को मांग के अनुरूप निर्बाध विद्युत आपूर्ति मिले, इसके प्रयास किये जा रहे। इस ऐतिहासिक सफलता के लिए ऊर्जा मंत्री ने प्रदेश के समस्त उपभोगताओं एवं ऊर्जा परिवार को दी बधाई।

हालांकि देखा जाए तो दिनभर में कई बार लाइट रह रह कर जा रही है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisement
Market Updates
Rashifal
Live Cricket Score
Weather Forecast
Latest news
अन्य खबरे