बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न BHARAT RATNA से मरणोपरांत किया जाएगा सम्मानित।

Spread the love
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय कर्पूरी ठाकुर जी

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न से मरणोपरांत भारत रत्न से किया जाएगा सम्मानित। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्पूरी ठाकुर को ‘भारत रत्न’ दिये जाने की घोषणा पर खुशी जताई।  उन्होंने कहा, “मुझे इस बात की बहुत प्रसन्नता हो रही है कि भारत सरकार ने समाजिक न्याय के पुरोधा महान जननायक कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। उनकी जन्म-शताब्दी के अवसर पर यह निर्णय देशवासियों को गौरवान्वित करने वाला है।”

पीएम मोदी ने आगे लिखा, “दलितों के उत्थान के लिए उनकी अटूट प्रतिबद्धता और उनके दूरदर्शी नेतृत्व ने भारत के सामाजिक-राजनीतिक ताने-बाने पर एक अमिट छाप छोड़ी है। यह अवॉर्ड न केवल उनके उल्लेखनीय योगदान का सम्मान करता है, बल्कि हमें एक अधिक न्यायपूर्ण और न्यायसंगत समाज बनाने के उनके मिशन को जारी रखने के लिए भी प्रेरित करता है। ”

यह भी पढ़े जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे राजभवन

बिहार के भूतपूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न मिलेगा उन्हें मरणोपरांत भारत रत्न दिया जाएगा। सरकार ने यह घोषणा ऐसे समय की है जब जब बुधवार (24 जनवरी) को कर्पूरी ठाकुर की जयंती है।श्री कर्पूरी ठाकुर बिहार के थे और उन्हें ‘जननायक’ के तौर पर जाना जाता है। वह दो बार कुछ-कुछ समय के लिए बिहार के मुख्यमंत्री बने थे। मुख्यमंत्री के रूप में उनका पहला कार्यकाल दिसंबर 1970 से जून 1971 तक चला था और इसके बाद वह दिसंबर 1977 से अप्रैल 1979 तक मुख्यमंत्री पद पर रहे थे। पहली बार वह सोशलिस्ट पार्टी और भारतीय क्रांति दल की सरकार में और दूसरी बार जनता पार्टी की सरकार में मुख्यमंत्री बने थे।

कर्पूरी ठाकुर का जन्म बिहार के समस्तीपुर जिले के पितौंझिया (अब कर्पूरी ग्राम) गांव में गोकुल ठाकुर और रामदुलारी देवी के घर में हुआ था। छात्र जीवन में वह राष्ट्रवादी विचारों से प्रभावित थे और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन में शामिल हो गए थे। उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन में शामिल होने के लिए अपना स्नातक कॉलेज छोड़ दिया था। स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल होने के लिए उन्होंने 26 महीने जेल में बिताए थे।

दिलचस्प बात यह है कि चुनावी साल में कर्पूरी ठाकुर की 100वीं जयंती को सभी राजनीतिक दल भव्य तरीके से मनाने को लेकर आतुर हैं और यही वजह है कि बिहार में इसके आयोजन स्थल को लेकर सत्ता पक्ष जदयू और भाजपा आमने-सामने आ गई है।  भाजपा ने चेतावनी दी है कि आरक्षित मैदान उन्हें कार्यक्रम के लिए खाली नहीं मिला तो वह सड़क पर समारोह मनाएगी।

1 thought on “बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न BHARAT RATNA से मरणोपरांत किया जाएगा सम्मानित।”

Leave a Comment