Friday, June 14, 2024

मालदीव जल्द करेगा भारत का RuPay कार्ड लॉन्च

मालदीव जल्द करेगा भारत का RuPay कार्ड लॉन्च

मालदीव जल्द करेगा भारत का RuPay कार्ड लॉन्च

मालदीव जल्द करेगा भारत का RuPay कार्ड लॉन्च, भारत के ‘चरणों’ में गिरा मालदीव, माफी से नहीं बना काम, अब उठाने जा रहा बड़ा कदम, भारतीयों को देगा खास सुविधा मालदीव के मंत्री ने कहा क‍ि अमेरिकी डॉलर की समस्या को सुलझाना और मालदीव की मुद्रा रुफिया (MVR) को मजबूत बनाना सरकार के ल‍िए सबसे बड़ी प्राथमिकता है। मालदीव ने भारत के साथ पंगा लेकर खुद के पैर पर कुल्‍हाड़ी मार ली। अब डैमेज कंट्रोल में जुटा है। मालदीव के मंत्री ने कहा है कि जल्‍द ही वह अपने देश में आने वाले भारतीयों के लिए खास सुविधा शुरू करने जा रहे।

यह भी पढ़े बरेका भारत स्काउट एवं गाइड जिला संगठन द्वारा निःशुल्क पानी पिलाओ कार्यक्रम का हुआ आयोजन

मालदीव के आर्थिक विकास एवं व्‍यापार मंत्री मोहम्‍मद सईद ने कहा, हम अपने यहां भारत का RuPay कार्ड रूपे सर्विस को शुरू करने की तैयारी में हैं। मालदीव के कैब‍िनेट म‍िन‍िस्‍टर ने कहा क‍ि इससे ‘मालदीव की मुद्रा रुफिया (Rufiyaa) को मजबूती म‍िलेगी।’ यह सुविधा शुरू होने के बाद मालदीव आने वाले भारतीय पर्यटक रुपये में भुगतान कर सकेंगे।

मालदीव के मंत्री ने कहा कि भारत का RuPay कार्ड लांच करने से हमारी करेंसी को भी मजबूती मिलेगी। दुनियाभर में डॉलर को लेकर बढ़ रही चिंताओं के बीच भारत जैसे देश के साथ लोकल करेंसी में व्‍यापार से आर्थिक मजबूती मिलेगी। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने रूपे सर्विस शुरू की है। यह अपनी तरह का पहला भारतीय प्रोडक्‍ट है, जो ग्‍लोबल कार्ड पेमेंट नेटवर्क के साथ जुड़ा है। इसे अब तक कई देशों में स्‍वीकार कर लिया गया है।

भारत का RuPay कार्ड का इस्‍तेमाल एटीएम के अलावा पीओएस मशीनों और ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी किया जा सकता है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने रूपे सर्विस शुरू की है। यह अपनी तरह का पहला भारतीय प्रोडक्‍ट है, जो ग्‍लोबल कार्ड पेमेंट नेटवर्क के साथ जुड़ा है। इसे अब तक कई देशों में स्‍वीकार कर लिया गया है। रूपे कार्ड का इस्‍तेमाल एटीएम के अलावा पीओएस मशीनों और ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी किया जा सकता है।

मालदीव का कहना है कि भारत और चीन दोनों ही देश उसके साथ अपनी लोकल करेंसी में व्‍यापार को लेकर रजामंदी जता चुके हैं। इसका मतलब है क‍ि डॉलर के बजाए रुपये में आयात का भुगतान हो सकेगा। इससे दोनों देशों के बीच 15 लाख डॉलर के आयात बिल पर 50 फीसदी तक बचत करने में मदद मिलेगी। यानी मालदीव भारत से रूपे में व्‍यापार करके करीब 7.5 लाख डॉलर की बचत कर सकेगा।

भारत ने जुलाई, 2023 में ही कहा था कि मालदीव भी इन 22 देशों में शामिल है, जो हमारे साथ लोकल करेंसी में व्‍यापार करने को इच्‍छुक हैं।

भारत के साथ तनाव बढ़ने का असर मालदीव के टूरिज्म पर पड़ा है। चार महीने में मालदीव पहुंचने वाले भारतीय टूर‍िस्‍ट की संख्या गि‍रकर करीब आधी रह गई। इस दौरान टूर‍िस्‍ट की संख्‍या 42 प्रत‍िशत कम हो गई है। टूर‍िस्‍ट की संख्या ग‍िरने के बाद मालदीव ने भारतीय पर्यटकों से आने की अपील भी की है।

मालदीव की ओर से भारतीय रुपे कार्ड से जुड़ा कदम तब उठाया जा रहा है जब द्वीप देश के साथ भारत के द्विपक्षीय संबंध थोड़े असहज हैं। दरअसल, भारत और मालदीव के रिश्ते तब बिगड़ गए थे जब वहां के तीन मंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि भारत लक्षद्वीप को मालदीव के वैकल्पिक पर्यटन स्थल के रूप में पेश करने की कोशिश कर रहा है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisement
Market Updates
Rashifal
Live Cricket Score
Weather Forecast
Latest news
अन्य खबरे