उत्तर प्रदेश के 16 हजार मदरसों की मान्यता हुई ख़त्म

Spread the love
Representational Image. Image Courtesy: PTI

उत्तर प्रदेश के 16 हजार मदरसों की मान्यता हुई ख़त्म

उत्तर प्रदेश के 16 हजार मदरसों की मान्यता हुई ख़त्म, इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने जारी किया आदेश जिसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए लगभग 16 हजार गैर मान्यता प्राप्त मदरसों को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। जिसके बाद मानकों को पूरा करने वाले मदरसों यूपी बोर्ड, सीबीएसई या फिर आईसीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूलों की तर्ज  होंगे। हालांकि जो मदरसे मानकों को पूरा नहीं करते हैं, वे बंद होंगे और वहां पढ़ने वाले बच्चों का एडमिशन सरकारी स्कूलों में कराया जाएगा।

यह भी पढ़े साधना फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सौरभ मौर्य द्वारा 150वां प्लेटलेट दान संपन्न किया गया

इसके लिए मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने सभी जिलों के डीएम की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय समिति बनाई है। यह कमेटी मदरसों का चिन्हीकरण कर वहां पढ़ रहे बच्चों का एडमिशन करवाएगी। अगर जरूरत पड़ी तो ऐसे बच्चों का दाखिला निजी विद्यालयों में भी करवाया जा सकता है। यदि फिर भी बच्चे दाखिले से वंचित रहते हैं तो नए स्कूल खोलने पर भी कमेटी विचार करेगी। गौरतलब है कि करीब 16 हजार मदरसों में तकरीबन 13।5 लाख बच्चे रजिस्टर्ड हैं।

गौरतलब है कि 22 मार्च को इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा अधिनियम-2004 को असंवैधानिक करार देते हुए निरस्त कर दिया था। जिसके बाद यूपी के अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की तरफ से फैसले को लेकर कहा गया था कि मदरसा अजीजिया इजाजुतूल उलूम के मैनेजर अंजुम कादरी की तरफ से चुनौती देने की बात कही गई। इसके बाद जो भी फैसला आता है उसी के अनुरूप अगला कदम उठाया जाएगा।

1 thought on “उत्तर प्रदेश के 16 हजार मदरसों की मान्यता हुई ख़त्म”

Leave a Comment