उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री विवाह योजना में फिर हुआ फर्जीवाड़ा भाई ने बहन संग ले डाले 7 फेरे

Spread the love

उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री विवाह योजना में फिर हुआ फर्जीवाड़ा भाई ने बहन संग ले डाले 7 फेरे

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री विवाह योजना में फिर हुआ फर्जीवाड़ा भाई ने बहन संग ले डाले 7 फेरे, महाराजगंज जनपद में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का अनुदान पाने के लालच में भाई ने बहन के ही साथ सात फेरे ले लिए। मामला उजागर होने के बाद अब समाज कल्याण विभाग अपनी कमियां लाभार्थी पर थोपकर नोटिस और रिकवरी में की बात कह रहा है। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में फर्जीवाड़े की बात सामने आने के बाद हड़कंप मचा हुआ है।

यह भी पढ़े आगरा: लड़के ने गर्लफ्रेंड को बुला दुष्कर्म कर किया दोस्तों के हवाले, पुलिस ने तीनो को किया गिरफ्तार

महाराजगंज जनपद के लक्ष्मीपुर ब्लॉक में 5 मार्च को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम आयोजित हुआ था। समाज कल्याण और विकास विभाग की देखरेख में आयोजित सामूहिक विवाह योजना के तहत रीति रिवाज के साथ शादी संपन्न कराई गई। लक्ष्मीपुर ब्लाक क्षेत्र के एक गांव की शदीशुदा युवती द्वारा भी सामूहिक विवाह योजना के लिए आवेदन किया गया।जांच पड़ताल के बाद युवती और उसके पति को भी 5 मार्च को लक्ष्मीपुर ब्लॉक में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में शामिल होना था, लेकिन किन्हीं कारणों से उसका पति नहीं आया। आनन-फानन में अधिकारियों और बिचौलियों ने पति की जगह उसके भाई को ही मंडप में बैठा दिया।भाई-बहन के साथ सात फेरे भी करा दिए। मामला सामने आने के बाद समाज कल्याण और विकास विभाग की कलई खुल गई। अब पैसे की रिकवरी की तैयारी है

मुख्यमंत्री विवाह योजना में फर्जीवाड़े के बाद रिकवरी में जुटा विभाग 


सामूहिक विवाह योजना में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद पहले तो अधिकारी बचाव कर रहे थे, लेकिन मामला मीडिया में आने के बाद समाज कल्याण विभाग ने फर्जीवाड़ा करने वाले लाभार्थी के घर पहुंच कर विवाह की तरफ से दिए जाने वाले सामान को वापस करने और अनुदान राशि के भुगतान पर रोक लगाने में जुट गया है।

2 thoughts on “उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री विवाह योजना में फिर हुआ फर्जीवाड़ा भाई ने बहन संग ले डाले 7 फेरे”

Leave a Comment