वाराणसी न्यायालय ने अभियुक्त को दी जमानत, हत्या के प्रयत्न का था आरोप

Spread the love

वाराणसी न्यायालय ने अभियुक्त को दी जमानत, हत्या के प्रयत्न का था आरोप

वाराणसी न्यायालय ने अभियुक्त को दी जमानत, हत्या के प्रयत्न का था आरोप, प्रभारी सत्र न्यायालय के न्यायाधीश राकेश पांडेय की अदालत ने थाना शिवपुर में दर्ज हत्या के प्रयत्न के मामले में अभियुक्त मनीष कुमार पुत्र किशन लाल निवासी ग्राम करगरी थाना दुर्गावती जनपद कैमूर भभुआ बिहार, हाल पता अनौला टकटकपुर थाना कैंट जिला वाराणसी की ओर से प्रस्तुत जमानत प्रार्थना पत्र को स्वीकार करते हुए अभियुक्त द्वारा 75000 रूपए का व्यक्तिगत बंधपत्र व इतनी ही धनराशि के दो प्रतिभू दाखिल करने पर शर्तों के अधीन जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया। बचाव पक्ष की ओर से अदालत मे वरिष्ठ फौजदारी अधिवक्ता महेंद्र मोहन मिश्र, आलोक पाठक एव अमित त्रिपाठी बंटी ने पक्ष रखा।

यह भी पढ़ें वाराणसी न्यायालय ने थानाध्यक्ष लंका को अग्रिम विवेचना का दिया आदेश,धोखाधड़ी के मामले में कोर्ट ने पुलिस की फाइनल रिपोर्ट की निरस्त


अभियोजन कथानक के अनुसार दिनांक 20.8.2023 को निरीक्षक सुनील कुमार सिंह पुत्र लाल बहादुर सिंह निवासी डोहरिया थाना मेजा जनपद प्रयागराज एसओजी प्रभारी कमिश्नरेट वाराणसी तथा उनकी टीम को कैंप कार्यालय के जरिए दूरभाष सूचना प्राप्त हुई कि शिवपुर थाना क्षेत्र के बीडीए कॉलोनी चांदमारी में एक घर में दो बदमाश घर में रह रही महिला उसकी छोटी बच्ची को बंधक बनाकर फिरौती की मांग कर रहे हैं फिरौती की रकम न मिलने पर मां व बच्ची को अपने हाथों में लिए शास्त्र चाकू सटाकर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं उक्त सूचना पर वह अपनी टीम के साथ सरकारी वाहन से तत्काल मौके पर पहुंचे मौके वहा पर उच्च अधिकारीगण मौजूद थे। आपस में उक्त ऑपरेशन को अंजाम देने हेतु बातचीत कर उक्त मकान में घुस गए और सावधानी पूर्वक जैसे ही नीचे वाले कमरे में दोनों अपहरणकर्ता के नजदीक पहुंचे कि दोनों पुलिस टीम पर जानलेवा हमला कर दिए एक अपहरणकर्ता ने वादी के सीने पर चाकू से जान से मारने की नीयत से तथा दूसरा अपहरणकर्ता ने साथ मौजूद एसीपी कैंट अतुल अंजान त्रिपाठी को जान से मारने की नीयत से उनकी गर्दन पर वार किया। हम लोग अपनी-अपनी जान बचाने के लिए उन्हें रोकना चाहे तो बाएं हाथ की तर्जनी उंगली व अंगूठे के बीच में तथा बाएं हाथ की तर्जनी उंगली में हमलावर के चाकू से गंभीर चोटे आई तथा अतुल अंजान त्रिपाठी को भी उनके दाएं हाथ के कलाई में हमलावर द्वारा जान मारने की नीयत से चलाए गए चाकू से गंभीर चोटे आई किसी तरह हम लोगों की जान बच गई घटना दोपहर बात की है।

2 thoughts on “वाराणसी न्यायालय ने अभियुक्त को दी जमानत, हत्या के प्रयत्न का था आरोप”

Leave a Comment