यूट्यूबर एल्विश यादव को सांपों के जहर की तस्करी मामले में गिरफ्तार किया गया

Spread the love
यूट्यूबर एल्विश यादव को सांपों के जहर की तस्करी मामले में गिरफ्तार किया गया

 यूट्यूब स्टार से विवादित व्यक्तित्व तक

17 मार्च, 2024: एलविश यादव, एक नाम जो कभी यूट्यूब स्टार और बिग बॉस ओटीटी विजेता के रूप में जाना जाता था, आजकल विवादों के घेरे में है। एलविश यादव को नोएडा पुलिस ने सांपों के जहर की तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया है। यह गिरफ्तारी एलविश यादव के जीवन में एक बड़ा मोड़ है, जो उन्हें एक लोकप्रिय यूट्यूबर से एक विवादास्पद व्यक्तित्व बनाती है।

एल्विश यादव को जब पुलिस ने बनाया आरोपी

8 नवंबर को नोएडा पुलिस ने रेव पार्टी में सांप के जहर के इस्तेमाल के मामले में एफआईआर दर्ज की थी। इस केस में यूट्यूबर एल्विश यादव भी आरोपी है। पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। बता दें कि कुछ दिन पहले बिग बॉस ओटीटी विजेता यूट्यूबर एल्विश यादव का मारपीट करने का वीडियो वायरल हुआ था। मारपीट का वीडियो पूरे दिन सोशल मीडिया पर ट्रेंड करता रहा। एल्विश यादव और उसके साथियों ने पीड़ित युवक के साथ सेक्टर-53 में स्थित साउथ प्वाइंट मॉल में मारपीट की थी। शिकायत पर सेक्टर-53 थाने में शुक्रवार देर रात को पुलिस ने आईपीसी की धारा 149,147,323 और 506 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले में पुलिस ने एल्विश यादव व उसके साथियों को आरोपी बनाया है।

यह भी पढ़े बरेका में पुस्तक विमोचन,पुस्तक समीक्षा, साहित्यकारों व पत्रकारों का सम्मान तथा नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम हुआ संपन्न

एलविश यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आज नोएडा पुलिस ने यूट्यूबर और बिग बॉस ओटीटी 2 के विजेता एल्विश यादव को गिरफ्तार किया। एल्विश यादव को नॉएडा पुलिस द्वारा जिला एवं सत्र न्यायालय सूरजपुर न्यायालय, ग्रेटर नोएडा, उत्तर प्रदेश में पेश किया गया।

एलविश यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार

एलविश यादव को न्यायालय द्वारा 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया जेल

जिला एवं सत्र न्यायालय सूरजपुर के न्यायालय द्वारा यूट्यूबर और बिग बॉस ओटीटी 2 विजेता एल्विश यादव को वन्य जीवन संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत एक मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।

एल्विस यादव द्वारा पत्रकारों को नहीं दिया गया जवाब

जिला एवं सत्र न्यायालय सूरजपुर के न्यायालय द्वारा एलविश यादव को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे जाने का जैसे ही फैसला दिया गया एलविश यादव मायूस हो गए कोर्ट से बाहर आने पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्न का वह कोई जवाब नहीं दे सके पुलिस उन्हें जेल लेकर चली गई। वैसे पुलिस हमेशा पुलिस जीत में ही किसी भी व्यक्ति को न्यायालय या न्यायालय से जेल ले जाती है, परंतु पुलिस द्वारा एल्विस यादव को प्राइवेट गाड़ी से ही न्यायालय ले आया गया था, व न्यायालय से 14 दिन की न्यायिक विरासत में भेजे जाने की आदेश के बाद प्राइवेट गाड़ी से ही पुलिस जेल लेकर गई।

यूट्यूब स्टार से बिग बॉस विजेता:

  • 1997 में जन्मे एलविश यादव ने 2017 में अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया था।
  • अपने मजाकिया और मनोरंजक वीडियो के दम पर उन्होंने जल्द ही लाखों सब्सक्राइबर्स हासिल कर लिए।
  • 2022 में, उन्होंने बिग बॉस ओटीटी में भाग लिया और शो जीतकर अपनी लोकप्रियता बढ़ा ली।

विवादों में घिरना:

  • 2023 में, एलविश यादव पर एक रेव पार्टी में सांपों के जहर का इस्तेमाल करने का आरोप लगा।
  • नोएडा पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और एलविश यादव को गिरफ्तार कर लिया गया।
  • उन्हें एनडीपीएस एक्ट के तहत 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

विवादों का प्रभाव:

  • एलविश यादव की गिरफ्तारी के बाद उनके यूट्यूब चैनल और सोशल मीडिया अकाउंट्स पर लोगों ने नाराजगी जताई है।
  • कई लोगों ने उनकी गिरफ्तारी का समर्थन करते हुए कहा है कि ऐसे लोगों को कानून का डर होना चाहिए।
  • कुछ लोगों ने एलविश यादव को बेगुनाह बताया है और पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाया है।

अब आगे क्या?:

  • एलविश यादव की जमानत याचिका पर अभी फैसला नहीं हुआ है।
  • पुलिस मामले की जांच कर रही है और जल्द ही chargesheet दाखिल करने की उम्मीद है।
  • यह देखना बाकी है कि एलविश यादव इन आरोपों से बरी होते हैं या उन्हें सजा होती है।

एलविश यादव की कहानी एक सबक है कि कैसे सोशल मीडिया पर प्रसिद्धि क्षणिक हो सकती है।

यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि किसी व्यक्ति को दोषी तब तक नहीं माना जाना चाहिए जब तक कि उसे अदालत द्वारा दोषी नहीं ठहराया जाता।

1 thought on “यूट्यूबर एल्विश यादव को सांपों के जहर की तस्करी मामले में गिरफ्तार किया गया”

Leave a Comment