गुजरात नाव हादसा : माननीय राष्ट्रपति, माननीय उपराष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री सहित अन्य राजनेताओं ने जताया दुख,मृतकों के परिजन को दी जाएगी आर्थिक मदद

Spread the love

Table of Contents

गुजरात नाव हादसा 16 लोंगो की हुई मृत्यु

गुजरात नाव हादसा बड़ौदा में हुआ बड़ा हादसा हरणी झील में सेल्फी लेते समय नाव पलटने की बात आ रही सामने। नाव पलटने से 16 मृतकों में 14 छात्र व दो टीचर थे। घटना के बाद बचाव कार्य शुरू करने के साथ ही घायलों को अस्पताल भेजा जाने लगा। नाव पर सवार बच्चे व शिक्षक सनराइज स्कूल के बताए गए जो पिकनिक मनाने स्कूल की तरफ से जा रहे थे। जिनमें से किसी ने भी कथित तौर पर लाइफ जैकेट नहीं पहना था। घटना के समय नाव में कुल 23 बच्चे और 4 शिक्षक सवार थे।

गुजरात नाव हादसे पर माननीय राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मू, माननीय उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य राजनेताओं ने जताया दुख।

यह भी पढ़े “वाराणसी जिलाधिकारी ने ईंट भट्ठों को पीएनजी गैस आपूर्ति

गुजरात नाव हादसे पर माननीय राष्ट्रपति जी ने दुःख व्यक्त किया

गुजरात नाव हादसे पर माननीय राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मू ने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि ” गुजरात के वडोदरा के हरनी झील में एक नाव पलटने की घटना में बच्चों और शिक्षकों सहित बहुमूल्य जिंदगियों की दुखद क्षति से अत्यंत दुखी हूं। इस कठिन समय में शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है। “

गुजरात नाव हादसे पर माननीय उपराष्ट्रपति जी ने दुःख व्यक्त किया

गुजरात नाव हादसे पर माननीय उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ द्वारा इस घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि “गुजरात के वडोदरा के हरनी झील में एक नाव पलटने की घटना में बच्चों और शिक्षकों सहित बहुमूल्य जिंदगियों की दुखद क्षति से अत्यंत दुखी हूं। इस कठिन समय में शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है।”

गुजरात नाव हादसे पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया

गुजरात नाव हादसे पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया। पीएम मोदी ने वडोदरा की हरनी झील में नाव पलटने से हुई जनहानि पर दुख जताया। साथ ही उन्होंने नाव पलटने की घटना में प्रत्येक मृतक के परिजन को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50,000 रुपये की मदद देने की घोषणा की।

गुजरात मुख्यमंत्री व गृहमंत्री ने घायलों से की मुलाक़ात

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने गुजरात के गृह मंत्री हर्ष सांघवी के साथ वडोदरा के एसएसजी अस्पताल में नाव पलटने की घटना में घायलों से मुलाकात की।

गुजरात नाव हादसे की वजह

शुरुआती जानकारी केअनुसार छात्र हरणी झील में स्कूल की तरफ से बच्चो व् टीचर सहित 27 लोग ट्रिप पर आए थे जिसके बाद नाव पलटने से ये हादसा हो गया। घटना की सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर समेत अन्य आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। इसके अलावा बचाव दल भी मौके पर पहुंच गया। कई छात्रों को झील से निकाला गया।

गुजरात नाव हादसे की वडोदरा मेयर ने दी जानकारी

इस घटना में वडोदरा की मेयर पिंकी सोनी ने कहा कि पर्यटक बच्चों और शिक्षकों की नाव पलट गई है। अस्पताल में तैयारियां कर ली गई हैं। बचाव कार्य भी शुरू कर दिया गया है। बताया गया कि वह नाव एक निजी स्कूल के 27 छात्रों और टीचरों को ले जा रही थी, जिनमें से किसी ने भी कथित तौर पर लाइफ जैकेट नहीं पहना था। वडोदरा शहर की हरणी झील का प्रबंधन वडोदरा नगर निगम के साथ अनुबंध के मुताबिक कोटिया फर्म करती है। घटना के वक्त नाव में कुल 23 बच्चे और 4 शिक्षक सवार थे। वीएमसी के अग्निशमन विभाग ने झील पर बचाव अभियान चलाया। बच्चे न्यू सनराइज स्कूल के थे।

वडोदरा दमकल अधिकारी ने दी जानकारी

वडोदरा मुख्य दमकल अधिकारी पार्थ ब्रह्मभट्ट ने बताया कि वडोदरा अग्निशमन विभाग की सभी 6 टीमें मोटनाथ झील पर पहुंच गई। जिसके बाद निकाले गए छात्रों को अब जानवी अस्पताल भेजा गया। घटनास्थल पर दमकल विभाग ने उन्हें फर्स्ट ऐड देने के बाद छात्रों को आगे के इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भेज दिया गया।

आखिर जिम्मेदार कौन


बचाए गए छात्रों को अस्पताल ले जाया गया। आखिर इस घटना का जिम्मेदार किसे माना जाए क्योंकि इस हादसे में दो शिक्षकों सहित कई छात्रों की जान चली गई जिन्हें नाव पर चढ़ते समय लाइव जैकेट नहीं दी गई थी इस घटना में यह भी आरोप लगा कि नव की क्षमता से ज्यादा लोगों को नव पर बैठा दिया गया था इसके बाद नाव पलटने के कारण यह घटना हुई मृतक शिक्षकों की पहचान फाल्गुनी सुरती एवं छाया पटेल के रूप में की गई।

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया कार्रवाई का भरोसा


गुजरात स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल ने वडोदरा में नाव पलटने की घटना को दुखद बताए हुए मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की औरइस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही।

1 thought on “गुजरात नाव हादसा : माननीय राष्ट्रपति, माननीय उपराष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री सहित अन्य राजनेताओं ने जताया दुख,मृतकों के परिजन को दी जाएगी आर्थिक मदद”

Leave a Comment